मस्जिदों में गो’लियों की आवाज सुनकर सदमे में बांग्लादेशी खिलाड़ी, बोले- अल्लाह ने हमें बचा लिया

NEW DELHI: न्यूजीलैंड में क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में शुक्रवार को हुए ह’मलों में 49 लोगों की मौ’त हो गई और 20 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने कहा, ‘यह स्पष्ट है कि इसे अब केवल आ’तंकवादी ह’म’ला ही करार दिया जा सकता है। हम जितना जानते हैं, ऐसा लगता है कि यह पूर्व नियोजित था।’

 

प्रधानमंत्री जेसिंडा एर्डर्न ने न्यू प्लाईमाउथ में मीडिया को संबोधित करते हुए क्राइस्टचर्च की घटना को न्यूजीलैंड के इतिहास की सबसे ख’राब घ’टना बताया है। दूसरी तरफ, पुलिस ने इस घ’टना के बाद 4 लोगों को हिरासत में लिया है। बांग्लादेश क्रिकेट टीम भी क्राइस्टचर्च शहर में है। घटना के दौरान वहां बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाड़ी भी मौजूद थे।

बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाड़ी तमीम इकबाल ने ट्वीट कर कहा, ”गो’लीबा’री में पूरी टीम बाल-बाल बच गई। बेहद ड’रावना अनुभव था”। बताया जा रहा है कि घटना के बाद बांग्लादेश के खिलाड़ी किसी तरह मस्जिद से सुरक्षित निकलने में सफल रहे। आपको बता दें कि बांग्लादेश की टीम को कल क्राइस्टचर्च में ही टेस्ट मैच खेलना था। जिसे हमले के बाद रद्द कर दिया गया है। बांग्लादेश के विकेटकीपर मुशफिकुर रहीम भी स’दमे में हैं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा- ‘क्राइस्टचर्च की मस्जिद की शू’टिंग के दौरान अल्लाह ने हमें बचा लिया। हम बहुत खुशनसीब हैं। जिंदगी में आगे कभी ऐसी चीजें देखने को न मि’ले। हमारे लिए प्रार्थना करें।’

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के प्रवक्ता जलाल यूनुस ने बताया कि पूरी टीम को बस में बिठाकर मस्जिद लाया गया था और जब गो’लीबारी हुई, तब टीम मस्जिद में प्रवेश करने ही वाली थी। उन्होंने एएफपी से कहा, ‘वे सुरक्षित हैं, लेकिन वे सदमे में हैं। हमने टीम से होटल में रहने को कहा है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *