दिग्विजय को शिवराज ने घेरा, बोले- उनका नाम लूंगा तो नहाना पड़ेगा, मैं रात को नहाना नहीं चाहता

NEW DELHI: चुनावी प्रचार के परवान चढ़ते ही बयानबाजी का दौर भी शुरू हो गया है। शुक्रवार को मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एक बयान सामने आया, जिसमें उन्होंने बिना नाम लिए कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह पर नि’शाना साधा। राजगढ़ में अपने संबोधन में शिवराज ने कहा कि ऐसे व्यक्ति जो 10 साल मुख्यमंत्री रहे, मैं उसका नाम नहीं लूंगा वरना मुझे नहाना पड़ेगा वो देश विरोध की बात कर रहे हैं।

दरअसल मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के ब्यावरा शहर में भाजपा की विजय संकल्प यात्रा में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के समक्ष IAS शिवनारायण चौहान ने बीजेपी ज्वाइन की। दिग्विजय सिंह के गढ़ कहे जाने वाले राजगढ़ में शिवराज ने उनपर बिना नाम लिए कई तीर छोड़े।

शिवराज ने कहा कि ये चुनाव देश को बचाने वाला है। उन्होंने कहा कि गोपाल जी कह रहे थे यहां एक ऐसा व्यक्ति है जो 10 साल मुख्यमंत्री रहा, मैं नाम नहीं लूंगा नहीं तो मुझे नहाना पड़ेगा मैं रात में नहाना नहीं चाहता। शिवराज ने कहा कि वह शहीदों का अपमान करता है, सेना के पराक्रम के बाद भी वह नरेंद्र मोदी का विरोध करते हुए भारत माता का अपमान करता है। इस दौरान उन्होंने विधानसभा चुनाव के नतीजों का भी जिक्र किया और कहा कि हमारी कुछ ही सीटें कम रह गई, जो अब कांग्रेस की सरकार है उसमें ढाई मुख्यमंत्री हैं।

दरअसल, राजगढ़ लोकसभा सीट से शिवराज सिंह की पत्नी साधना सिंह के चुनाव लड़ने की अटकलें हैं। हालांकि, शिवराज ने अभी इस बात की पुष्टि करने से मना किया और कहा कि ये फैसला पार्टी ही करेगी कि टिकट किसे मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *