5 साल में BJP के घोषणा पत्र से सारे नेता गायब, लोग बोले- शाह का स्टाम्प साइज फोटो भी नहीं लगा

NEW DELHI: लोकसभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग के लिए सिर्फ 3 दिन बचे हैं। BJP ने अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी कर दिया है। पहली नजर में देखें तो BJP के 2014 और 2019 के घोषणा पत्र में मुद्दों में तो ज्यादा अंतर नहीं है लेकिन घोषणा पत्र के कवर पेज बिलकुल बदल गए हैं। 2014 में BJP के घोषणा पत्र के कवर पेज पर लाल कृष्ण आडवाणी, अटल बिहारी वाजपेयी, राजनाथ सिंह, मुरली मनोहर जोशी, सुषमा स्वराज, अरुण जेटली जैसे नेताओं की तस्वीर लगी थी लेकिन इस बार के घोषणा पत्र में केवल PM की ही एक बड़ी तस्वीर लगाई गई है। बाकि सभी नेता गायब है।

BJP के इस घोषणा पत्र का ट्वीटर पर खूब मजाक उड़ रहा है। कहीं लोग कह रहे हैं कि अगर 5 सालों में इतना बदलाव हो गया है तो जरा सोचिए 2024 में क्या हाल होगा। अभी तो केवल कुछ नेताओं की तस्वीर ही गायब हुई है, 2024 में पता नहीं क्या क्या गायब हो जाएगा।


वहीं एक यूजर ने भाजपा और कांग्रेस के घोषणा पत्र की फोटो शेयर करके लोगों से कहा कि- दोनों तस्वीरों को देखकर आप समझ सकते हैं कि कौन सी पार्टी देश की जनता के साथ है। जहां भाजपा के घोषणा पत्र पर केवल मोदी की तस्वीर लगी है वहीं कांग्रेस के घोषणा पत्र पर देश की जनता की तस्वीर है।

वहीं एक यूजर ने अमित शाह का मजाक भी उड़ाया, उसने लिखा कि भाजपा के घोषणा पत्र से अमिता का फोटो भी गायब है, कम से कम स्टैंप साइज फोटो तो लगा देते, स्टैंप साइज फोटो भी नहीं लगा है।

ये हैं भाजपा के इस बार के प्रमुख मुद्दे : यूनिफॉर्म सिविल कोड लाएंगे। सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल दोनों सदनों से पास कराएंगे और उसे लागू करेंगे, लेकिन किसी राज्य की संस्कृति और भाषाई पहचान को बचाएंगे। राम मंदिर के संकल्प को भी हम दोहराते हैं। हमारा प्रयत्न होगा कि राम मंदिर का जल्द से जल्द निर्माण हो जाए। कश्मीर से अनुच्छेद 35-ए हटाएंगे।

His district switched to a mandatory thesis writing company online health course before the 2010-11 school year.