मालिक की जान बचाने के लिए तेंदुए से भिड़ गया पालतू कुत्‍ता.. तब तक लड़ा जब तक हिम्मत थी

NEW DELHI: कुत्ते से वफादार कोई जानवर नहीं होता। इस बात का सबूत दुनिया बहुत पहले से देखती आई है। बागपत में शाहपुर बाणगंगा गांव के जंगल में कुछ दिन पहले खेत पर काम कर रहे एक किसान पर तेंदुए ने हमला बोल दिया। इस दौरान साथ गये पालतू कुत्ते ने भी तेंदुए से संघर्ष किया, जिसमें कुत्ता गम्भीर रूप से घायल हो गया।

शाहपुर बाणगंगा गांव निवासी योगेंद्र पुत्र शेषराज शाम को जंगल में अपने खेत पर भैंसा बुग्गी लेकर ईख काटने गया था। इस दौरान उसके साथ उसका पालतू कुत्ता भी गया था। जैसे ही किसान ने ईख काटनी शुरू की तो खेत के अंदर से आकर तेंदुए ने उस पर हमला बोल दिया, जिससे वह बाल-बाल बच गया। किसान के साथ आए पालतू कुत्ते ने तेंदुए का सामना किया। हिम्मत करके किसान ने भी बलकटी से तेंदुए पर वार करने शुरू कर दिए।


इसके बाद तेंदुआ खेत में घुसकर भाग गया। इस दौरान कुत्ता भी बुरी तरह से लहुलुहान हो गया। तेंदुए के हमले से दहशतजदा किसान भैसा बुग्गी लेकर वापस गांव आ गया और पूरा वाक्‍या लोगों को बताया। ग्रामीणों ने वन विभाग के अधिकारियों एवं स्थानीय कर्मियों पर मनमानी का आरोप लगाया है।

पिछले माह भी खपराना के जंगल मे तेंदुए ने किसान पर हमला किया था तब भी उनके साथ गये पालतू कुत्ते ने सामना कर जान बचाई थी। लेकिन उस हमले के बाद भी वन विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की थी, जिससे ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। ग्राम प्रधान बालेश्वर का कहना है कि यदि वन विभाग ने जल्द उपाय नहीं किये तो धरना प्रदर्शन किया जाएगा। वन रेंजर बड़ौत राजपाल सिंह का कहना है कि वन कर्मियों की टीम मौके पर भेजकर मामला दिखवाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *