ना समझे तो मिट जाओगे ऐ हिंदोस्तां वालों, महबूबा के 2019 के 5 विवादित बयान,जिसमें PAK प्रेम दिखा

NEW DELHI: जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहती हैं। महबूबा के बयानों में हमेशा पाकिस्तान प्रेम झलकता है। आज हम आपको महबूबा के इस साल के कुछ विवादित बयानों के बारे में बताएंगे जिससे देश के लोगों में गुस्सा है। चुनाव नजदीक है इसलिए इन दिनों अनुच्छेद 370 का मुद्दा गर्माया हुआ है। भाजपा ने आज अपना घोषणा पत्र भी जारी किया जिसमें उन्होंने अनुच्छेद 370 को खत्म करने को भी अपना मुद्दा बताया है। जिसके बाद महबूबा ने भाजपा पर ह’मला बोल दिया

महबूबा के 2019 के विवादित बयान
महबूबा मुफ्ती ने अनुच्छेद 370 खत्म करने के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वादे पर भारत को चेतावनी दी है। ट्वीट करके महबूबा ने शायराना अंदाज में चेतावनी देते हुए कहा, ‘ना समझोगे तो मिट जाओगे ये हिंदोस्तां वालों। तुम्हारी दास्तां तक भी ना होगी दास्तानों में।’

महबूबा ने 3 अप्रैल को अनुच्छेद 370 को लेकर विवादित बयान दिया था। उन्होंने चेतावनी दी कि इसे खत्म करने पर जम्मू-कश्मीर का भारत से रिश्ता खत्म हो जाएगा। हम भारत से अपना नाता तोड़ देंगे।

इसी साल फरवरी में भी उन्होंने विवादित बयान देते हुए कहा था कि यदि अनुच्छेद 35 एक के साथ छेड़छाड़ होती है तो आप उस माहौल का सामना करेंगे जिसे आपने 1947 के बाद से आप ने नहीं देखा होगा।

16 जनवरी को जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने आ’तंकियों की वकालत करते हुए एक विवादित बयान दिया था। महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि कश्मीर के लोगों को जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है। इतना ही नहीं महबूबा ने आ’तंकियों को धरतीपुत्र कहा और अपील की थी कि उनकी जान बचाई जानी चाहिए।

पुलवामा ह’मले के 5 दिन बाद पाकिस्तान के PM इमरान खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि अगर भारत सबूत देगा तो हम कार्रवाई करेंगे। इमरान के इस बयान का महबूबा मुफ्ती ने समर्थन किया था। महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि हमें नए PM को मौका देना चाहिए। भारत को बातचीत से हल निकालना चाहिए जंग की बात तो अनपढ़ लोग करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *