जम्मू में बोले गृह मंत्री- J&K के लिए अलग प्रधानमंत्री की बात करोगे तो हटा देंगे धारा 370

NEW DELHI: उमर अब्दुल्ला के ये बयान पूरे देश में काफी चर्चा में है कि कश्मीर का अलग पीएम होना चाहिए। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज जम्मू के आरएसपुरा में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि पुलवामा ह’मले के बाद हमने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है। राजनाथ ने इस दौरान कहा कि अगर कोई जम्मू-कश्मीर के लिए अलग प्रधानमंत्री की बात करता है तो सरकार के पास अनुच्छेद 370 और 35 ए को हटाने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वे कश्मीर के अलगाववादियों से भी बात करने को तैयार थे, लेकिन अब बहुत हुआ। अब हर बात हाथ से निकल गई है। नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के बेटे उमर अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री बनाने की बात कही थी।

उमर अब्दुल्ला ने कहा था कि उनकी पार्टी जम्मू-कश्मीर की स्वायत्तता को बहाल करने के लिए कड़ी मेहनत करेगी जिसमें एक सदर-ए-रियासत (राष्ट्रपति) तथा वजीर-ए-आजम (प्रधानमंत्री) का होना शामिल है। इस बयान पर बीजेपी ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा था। वहीं कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी ने पीडीपी के साथ सरकार बनाई और राज्य को इस स्थिति में ले आए हैं, जहां से फिर अलग राज्य की मांग उठ रही है।

वहीं पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने भी 370 पर देशविरोधी बयान दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि BJP अनुच्छेद 370 हटाने की बात कर रही है। अगर ऐसा हुआ तो हम स्वत: ही चुनाव लड़ने के अधिकार से वंचित हो जाएंगे, क्योंकि तब भारतीय संविधान जम्मू-कश्मीर पर लागू ही नहीं होगा। इसके बाद महबूबा ने धमकी भरे अंदाज में लिखा कि ना समझोगे तो मिट जाओगे ऐ हिन्दुस्तान वालो। तुम्हारी दास्तान तक भी ना होगी दास्तानों में।
Every high school graduate should find viable online homework help sites ways of pursuing both a career and a meaningful postsecondary degree or credential, the report says.